• 19/08/2022 4:55 pm

#Investment in #Gold: सोने के निवेश के ये पांच तरीके हैं प्रचलित, जानिए क्‍या है आपके लिए फायदे का सौदा

प्रथमेश माल्या। वैश्विक बाजारों को बाधित करने वाली कोविड-19 महामारी के साथ वैश्विक उत्पादन में लगातार गिरावट आ रही है। इसके बाद अधिकांश एसेट क्लास से रिटर्न कम हो गया है। बाजार के परिदृश्य से चिंतित निवेशक सोने की ओर रुख कर रहे हैं, जो हमेशा संकट के समय में स्थिर मूल्य के भंडार के रूप में उभरता है, खास तौर से तब जब दूसरे एसेट क्‍लास अस्थिर होते हैं।

क्यों करना चाहिए गोल्ड में निवेश?

सोने में वह सभी गुण हैं जो एक पारंपरिक निवेशक एक एसेट क्लास में देखता है। उदाहरण के तौर पर :

रिटर्न : कई बार सोने की कीमतों में गिरावट देखी गई है, लेकिन यह हमेशा मजबूती के साथ वापसी करता है, यहां तक कि कुछ समय तो आउटपरफॉर्मिंग बॉन्ड और शेयरों को भी पीछे छोड़ देता है।

लिक्विडिटी : जरूरत पड़ने पर आप सोने में निवेश को काफी आसानी से नकदी में बदल सकते हैं।

सह-संबंध की कमी : सोना स्टॉक और बॉन्ड जैसे अन्य एसेट क्लास से अलग प्रदर्शन करने के लिए जाना जाता है। जब वे नीचे जाते हैं, तो सोना ऊपर जा सकता है।

अन्य एसेट्स से कम सह-संबंध होने के कारण सोना एक उत्कृष्ट पोर्टफोलियो डाइवर्सिफायर के रूप में कार्य करता है, जो बाजार की प्रतिकूल परिस्थितियों के दौरान घाटा कम करता है। सोने का मूल्य भी महंगाई को मात देने के इसके गुणों में निहित है। आर्थिक मंदी के समय सरकारें असीमित धन छापने की अपनी शक्ति को बढ़ाती हैं। यदि अर्थव्यवस्था में अत्यधिक पैसा है, तो मुद्रास्फीति होती है, जिससे लोगों की जेब और संपत्ति में पैसे का मूल्य कम हो जाता है। वहीं, उस अवधि में सोने की कीमत बढ़ जाती है। यदि आपने सोने में निवेश करने के बारे में अपना मन बना लिया है, तो यहां पांच तरीके दिए गए हैं:

9:30 Live

Leave a Reply

Your email address will not be published.