• 14/08/2022 11:30 pm

#Commodity market : #सोने में कल की रिकवरी के बाद आज फिर कमजोरी, कच्चे तेल में मिलाजुला कारोबार

सोने में कल की रिकवरी के बाद आज फिर कमजोरी देखने को मिल रही है। MCX पर सोना फिर 52 हजार के नीचे फिसल गया है। अमेरिका के अच्छे आर्थिक आंकड़ों से कीमतों पर दबाव देखने को मिल रहा है। लेकिन चांदी में मजबूती है। MCX पर चांदी 67 हजार के ऊपर है।

सोने में फिर कमजोरी

MCX पर सोना 52,000  रुपए के नीचे चला गया है।  कॉमेक्स पर सोने के दाम 1,950 डॉलर के नीचे है। सोने में ऊपरी स्तर पर फिर मुनाफावसूली दिख रही है। US के अच्छे आर्थिक आंकड़ों से सोने पर दबाव दिख रहा है। ग्लोबल लिक्विडिटी से निचले स्तर पर सपोर्ट मिल रहा है। कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों से सहारा भी सहारा मिल रहा है।

चांदी में रिकवरी

12 साल की सबसे बड़ी गिरावट के बाद लगातार दूसरे दिन बढ़त देखने को मिल रही है। MCX पर चांदी के दाम 67,000 रुपए  के ऊपर पहुंच गए हैं। डॉलर में कमजोरी आने से कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है। सप्लाई में कमी से भी चांदी में चमक लौटी है।

कच्चे तेल में मिलाजुला कारोबार

कच्चे तेल में आज मिलाजुला कारोबार देखने को मिल रहा है। घरेलू बाजार में क्रूड मजबूत है लेकिन ब्रेंट में छोटे दायरे में कारोबार हो रहा है। अमेरिका में इंवेंट्री और उत्पादन घटने से कच्चे तेल को सपोर्ट मिल रहा है। बेस मेटल्स में भी मिक्स ट्रेंड है। कॉपर में कमजोरी है लेकिन निकेल में बढ़त के साथ कारोबार हो रहा है। सप्लाई में रुकावट और डिमांड रिकवरी से मेटल्स को सपोर्ट है।

क्रूड छोटे दायरे में दिख रहा है। अमेरिका में इंवेंट्री लगातार चौथे हफ्ते गिरी है। अमेरिका में इंवेंट्री 45 लाख बैरल कम हुई है। US का क्रूड उत्पादन 11 mbpd से घटकर 10.7 mbpd रहा है। अनुमान है कि 2020 में ग्लोबल ऑयल डिमांड 9.06 mbpd घटेगी। जुलाई में भारत की फ्यूल डिमांड सालाना आधार पर  11.7 फीसदी घटी है।

मेटल्स में मिलाजुला रुख

कॉपर में कमजोरी वहीं, निकेल  में मजबूती दिख रही है। सप्लाई में रुकावट से कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है। डिमांड रिकवरी से बेस मेटल्स को सहारा मिल रहा है। डॉलर में कमजोरी से मेटल्स में रौनक आई है। BALTIC DRY INDEX में बढ़त  देखने को मिल रही है। इंडेक्स करीब 3 हफ्ते के ऊपरी स्तर पर नजर आ रहा है। मेटल, स्टील की मजबूत मांग से तेजी आई है।

एग्री कमोडिटी:खाने के तेलों में मजबूती

खाने के तेलों में आज मजबूती देखने को मिल रही है। विदेशी बाजारों से अच्छे संकेत और डिमांड रिकवरी से कीमतों को सपोर्ट मिल रहा है। इसके अलावा सोयाबीन उत्पादक राज्यों में मॉनसून फिर जोर पकड़ता हुआ दिख रहा है।

खाने के तेलों के लिए के लिए विदेशी बाजारों से अच्छे संकेत हैं। होटल, रेस्टोरेंट खुलने से मांग में इजाफा हुआ है। फेस्टिव सीजन में भी अच्छी मांग रहने की उम्मीद है। कोरोना के पहले डिमांड करीब 20 लाख टन/माह थी। 6 माह में कोरोना के पहले के स्तर पर बिक्री संभव है। खाने के तेलों की बिक्री में हर महीने सुधार हो रहा है।जुलाई-अगस्त के दौरान बिक्री में काफी सुधार हुआ है। जुलाई-अगस्त में बिक्री करीब 17 लाख टन पहुंची है।

बारिश का रेड अलर्ट

मौसम विभाग  ने गुजरात के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। 4 दिनों तक गुजरात में भारी बारिश का अनुमान है। गुरुवार-रविवार तक भारी बारिश का अनुमान है। पूर्वी राजस्थान, मध्य भारत में भी तेज बारिश के आसार हैं।

For Ragular Update Visit Our Site.

                                  Click Link Below.

https://newsmarkets24.com

twitter.com/newsmarkets24

https://www.facebook.com/newsmarkets

9:30 Live

Leave a Reply

Your email address will not be published.