• Fri. Jun 25th, 2021

Commodity market: सोने -चांदी में गिरावट, क्रूड और मेटल्स में क्या हो निवेश रणनीति

सोने-चांदी में आज कमजोरी देखने को मिल रही है। डॉलर में ढाई महीने के निचले स्तर से रिकवरी आई है जिससे सोने-चांदी पर दबाव है। हालांकि, सबकी नजर आज आने वाली अमेरिका के महंगाई आंकड़ों पर है जो सोने-चांदी सहित तमाम बाजारों की दिशा तय करेंगे। इसके अलावा इजराइल और फिलीस्तीन बढ़ता तनाव भी प्रेसियस मेटल्स के लिए एक अहम ट्रिगर बनकर उभरा है। ऐसे हालात में सोने-चांदी में आपको क्या रणनीति बनाना चाहिए इस पर आज फोकस होगा।

 

कच्चे तेल में आज लगभग फ्लैट कारोबार हो रहा है। अमेरिका में पाइपलाइन ठप होने से क्रूड को सपोर्ट है, उधर ओपेक ने भी डिमांड अनुमान में बढ़ोतरी की है। मेटल्स में आज ज्यादातर मजबूती देखने को मिल रही है।

 

सोने में कमजोरी

 

MCX पर सोना 47,500 रुपये प्रति 10 ग्राम के करीब पहुंच गया है। डॉलर में मजबूती से सोने पर दबाव बना हुआ है। US में बॉन्ड यील्ड बढ़ने से भी कमजोरी आई है। वहीं महंगाई को लेकर चिंता से थोड़ा सपोर्ट मिल रहा है। US के महंगाई आंकड़ों पर नजर बाजार की  नजर है। US में आज अप्रैल के महंगाई के आंकड़ेआएंगे । अप्रैल में महंगाई दर 3.6 फीसदी रहने का अनुमान है।

 

Israel और Palestine में तनाव

 

Israel और Palestine के बीच तनाव बढ़ने से चिंता बढ़ी है। हमास ने कल Gaza पर करीब 300 रॉकेट दागे। वहीं Israel ने Tel Aviv का मुख्य एयरपोर्ट बंद किया है।

 

फीकी रहेगी अक्षय तृतीया

 

अक्षय तृतीया पर सोने की डिमांड फीकी रहने के आसार है। देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन से ज्वेलरी दुकानें बंद है। हालांकि गोल्ड बॉन्ड, ETF, डिजिटल गोल्ड में निवेश के मौके है।

 

चांदी में गिरावट

 

डॉलर में मजबूती से चांदी की चमक फीकी पड़ी है। US में बॉन्ड यील्ड बढ़ने से चांदी में कमजोर आई है हालांकि बेहतर डिमांड की उम्मीद से थोड़ा सपोर्ट मिला है।

 

मेटल्स में मिलाजुला रुख

 

एल्युमिनियम मजबूती के साथ कारोबार कर रहा है लेकिन बाकी मेटल सुस्त है। ऊंची फ्रेट कॉस्ट से एल्युमिनियम में तेजी आई है। लेबर, ट्रांसपोर्टेशन की दिक्कतों एल्युमिनियम सप्लाई तंग है। डॉलर में रिकवरी से मेटल्स में ऊपरी स्तर पर दबाव देखने को मिल रहा है।

 

क्रूड छोटे दायरे में

 

US में गेसोलीन की कमी को लेकर चिंता बनी हुई है। US में गेसोलीन कई सालों के ऊपरी स्तर पर पहुंच गया  है। US में साइबर अटैक के बाद  कई पाइपलाइन अभी भी ठप पड़ी हैं।  US में क्रूड की इंवेंट्री में 25 लाख बैरल की कमी आई है।  OPEC ने डिमांड अनुमान 2 लाख बैरल प्रति दिन बढ़ाया है।

 

 FOR REGULAR UPDATE VISIT OUR SITE.

                                        CLICK LINK BELOW.

https://newsmarkets24.com

twitter.com/newsmarkets24

https://www.facebook.com/newsmarkets

 

SUBSCRIBE MY YOUTUBE CHANNEL


https://www.youtube.com/NEWSMARKETS24

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *