Friday, July 19, 2024

बेंगलुरू के दो हज यात्रियों की मक्का में मौत

सऊदी अरब के अधिकारियों के अनुसार, बेंगलुरू के दो हज यात्रियों की मक्का में अत्यधिक गर्मी के कारण मौत हो गई है।

आरटी नगर की 69 वर्षीय कौसर रुकसाना और फ्रेजर टाउन के 51 वर्षीय मोहम्मद इलियास की हज यात्रा के दौरान तेज गर्मी में जान चली गई। इस भीषण गर्मी में 68 भारतीयों सहित कई लोगों की जान चली गई है।

यह घटना मक्का से लगभग 8 किमी दूर हुई, जब 17 जून को तीर्थयात्री शैतान को पत्थर मारने की रस्म निभा रहे थे। कर्नाटक राज्य हज समिति के अधिकारी सरफराज खान सरदार ने बताया, “जब वे मक्का की ओर लगभग 50 मीटर चल रहे थे, तब वे गर्मी के कारण बेहोश हो गए।”

इस मौसम में मक्का में तापमान 52 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था, जिसके कारण सऊदी अधिकारियों ने सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक बाहर न निकलने की चेतावनी जारी की थी। इसके बावजूद, गर्मी की लहर कई तीर्थयात्रियों के लिए जानलेवा साबित हुई।

टेंट में रह रहे एक समूह के तीर्थयात्रियों ने बसों के भरे होने के कारण पांच किलोमीटर पैदल चलने का निर्णय लिया। सरफराज खान सरदार ने कहा, “वे अच्छे स्वास्थ्य में थे और उनके साथ उनके जीवनसाथी भी थे।”

अधिकारियों ने पुष्टि की कि मृतकों का अंतिम संस्कार सऊदी अरब में ही होगा।

इस साल कर्नाटक राज्य हज समिति के तहत लगभग 7,000 तीर्थयात्री बेंगलुरू से हज के लिए गए हैं। कुल मिलाकर, राज्य से 10,500 से अधिक लोग हज के लिए गए हैं, जिनमें निजी टूर ऑपरेटरों के यात्री भी शामिल हैं।

राज्य के अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री रहीम खान ने मौतों पर शोक व्यक्त किया और मदद का वादा किया। उन्होंने कहा, “यह घटना, जिसमें इतनी बड़ी संख्या में लोग मारे गए हैं, सऊदी अरब में अभूतपूर्व है। हम उनके शवों को वापस लाने के लिए विदेश मंत्रालय (ईएएम) के अधिकारियों के संपर्क में हैं।”

Latest news
Related news