Sunday, June 23, 2024

पुतिन ने संवाददाता सम्मेलन में यूक्रेन के हथियारों और परमाणु शस्त्रागार को लेकर पश्चिम को चेतावनी दी

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने चेतावनी दी है कि अगर उनकी संप्रभुता या क्षेत्र को खतरा हुआ, तो रूस परमाणु हथियारों के इस्तेमाल से पीछे नहीं हटेगा। पुतिन ने यह बयान बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय समाचार एजेंसियों के नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान दिया, जो 2022 में यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बाद उनकी पहली ऐसी मुलाकात थी।

जब उनसे परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की संभावना के बारे में पूछा गया, तो पुतिन ने कहा कि यह सवाल से बाहर नहीं है। उन्होंने 2020 के रूसी परमाणु सिद्धांत का हवाला देते हुए कहा कि अगर रूस पर सामूहिक विनाश के हथियारों का इस्तेमाल किया गया या राज्य के अस्तित्व को खतरा हुआ, तो रूस परमाणु विकल्पों पर विचार कर सकता है। उन्होंने जोर देकर कहा कि अगर कोई उनकी संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए खतरा बनता है, तो रूस अपने पास मौजूद सभी साधनों का इस्तेमाल कर सकता है।

पुतिन ने नाटो देशों पर हमले की आशंकाओं को खारिज करते हुए कहा कि रूस का नाटो पर हमला करने का कोई इरादा नहीं है। उन्होंने नाटो देशों को रूस को दुश्मन न बनाने की सलाह दी, क्योंकि इससे खुद उनका ही नुकसान होगा। पुतिन ने कहा कि नाटो के अनुच्छेद 5 के अनुसार किसी एक सदस्य पर हमला सभी सदस्यों पर हमला माना जाएगा, लेकिन उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि रूस नाटो पर हमला नहीं करेगा।

हालांकि, पुतिन ने चेतावनी दी कि अगर पश्चिमी देश, जैसे जर्मनी और अमेरिका, यूक्रेन को ऐसे हथियार मुहैया कराते हैं जो रूस के खिलाफ इस्तेमाल हो सकते हैं, तो इससे तनाव बढ़ सकता है। उन्होंने कहा कि अगर पश्चिमी देश यूक्रेन को ऐसे हथियार देते हैं, तो रूस को भी अधिकार होगा कि वह उन क्षेत्रों में ऐसे हथियारों की आपूर्ति करे जो रूस पर हमला करने वाले देशों की संवेदनशील सुविधाओं पर हमला कर सकें।

यह टिप्पणी जर्मनी द्वारा यूक्रेन को लेपर्ड 2A6 युद्धक टैंक देने के फैसले और अमेरिका व जर्मनी द्वारा यूक्रेन को रूस के अंदर लक्ष्यों को भेदने की अनुमति देने के संदर्भ में आई है। एसोसिएटेड प्रेस ने बताया कि यूक्रेन ने रूस के भीतर हमलों के लिए अमेरिकी हथियारों का उपयोग किया है, हालांकि वाशिंगटन ने कुछ हथियारों के उपयोग पर प्रतिबंध लगा रखा है।

जब पुतिन से पूछा गया कि अगर यूक्रेन को रूस के भीतर हमलों के लिए पश्चिमी मिसाइलें दी गईं तो क्या होगा, उन्होंने कहा कि रूस अपनी वायु रक्षा प्रणालियों में सुधार करेगा और उन मिसाइलों को नष्ट कर देगा।

Latest news
Related news