Friday, July 19, 2024

चीनी अंतरिक्ष रॉकेट दुर्घटनावश प्रक्षेपण के बाद आग की चपेट में आया

रविवार को एक चीनी निजी कंपनी के अंतरिक्ष रॉकेट का परीक्षण करते समय गलती से प्रक्षेपण हो गया और वह एक शहर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिससे आग लग गई। बीजिंग तियानबिंग, जिसे स्पेस पायनियर के नाम से भी जाना जाता है, ने अपने आधिकारिक वीचैट अकाउंट पर बताया कि उनके तियानलोंग-3 रॉकेट का पहला चरण लॉन्च पैड से बाहर निकल गया क्योंकि रॉकेट और परीक्षण स्टैंड के बीच कनेक्शन में विफलता हो गई।

कंपनी ने कहा कि रॉकेट मध्य चीन के गोंगयी शहर के पहाड़ी इलाके में गिरा। घटना के वीडियो में दिखाया गया कि रॉकेट पहले सीधा ऊपर गया, फिर अपनी शक्ति खो दी और क्षैतिज रूप से घूमते हुए धरती पर गिर गया और पास की पहाड़ियों में आग लग गई।

प्रारंभिक जांच में पाया गया कि इस दुर्घटना में किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। गोंगयी आपातकालीन प्रबंधन ब्यूरो ने बताया कि रॉकेट के हिस्से एक सुरक्षित क्षेत्र में गिरे और आग लग गई, लेकिन इसे बुझा दिया गया और कोई घायल नहीं हुआ।

तियानलोंग-3, जिसे “स्काई ड्रैगन 3” भी कहा जाता है, एक आंशिक रूप से पुन: प्रयोज्य रॉकेट है जिसे स्पेस पायनियर विकसित कर रहा है। यह कंपनी उन कुछ निजी रॉकेट निर्माताओं में से एक है, जो पिछले पांच वर्षों में तेजी से विकसित हुए हैं। रॉकेट के मलबे का चीन में गिरना आम है, लेकिन विकासाधीन रॉकेट का इस तरह से दुर्घटनाग्रस्त होना दुर्लभ है।

स्पेस पायनियर ने बताया कि तियानलोंग-3 का पहला चरण गर्म परीक्षण के दौरान सामान्य रूप से प्रज्वलित हुआ, लेकिन बाद में संरचनात्मक विफलता के कारण परीक्षण बेंच से अलग हो गया। रॉकेट के चरणों में पहला चरण रॉकेट को प्रज्वलित करता है और प्रक्षेपण के समय उसे ऊपर की ओर धकेलता है। जब ईंधन समाप्त हो जाता है, तो पहला चरण गिर जाता है और दूसरा चरण प्रज्वलित होता है, जिससे रॉकेट आगे बढ़ता है।

स्पेस पायनियर का कहना है कि तियानलोंग-3 का प्रदर्शन स्पेसएक्स के फाल्कन 9 के बराबर है, जो भी दो-चरण वाला रॉकेट है। अप्रैल 2023 में, स्पेस पायनियर ने केरोसिन-ऑक्सीजन रॉकेट, तियानलोंग-2 लॉन्च किया, जो अंतरिक्ष में तरल-प्रणोदक रॉकेट भेजने वाली पहली निजी चीनी फर्म बन गई।

2014 में जब राज्य ने इस उद्योग में निजी निवेश की अनुमति दी, तब से चीनी वाणिज्यिक अंतरिक्ष कंपनियां तेजी से आगे बढ़ी हैं। कई कंपनियां उपग्रह बना रही हैं, जबकि स्पेस पायनियर जैसी अन्य कंपनियां पुन: प्रयोज्य रॉकेट विकसित कर रही हैं, जिससे मिशन की लागत कम हो सकती है।

ऐसी कंपनियों के परीक्षण स्थल आमतौर पर चीन के तटीय क्षेत्रों में होते हैं, ताकि सुरक्षा कारणों से समुद्र के पास हो। लेकिन कुछ स्थल देश के अंदरूनी इलाकों में भी हैं, जैसे कि गोंगयी में स्पेस पायनियर का परीक्षण केंद्र, जो हेनान प्रांत के 800,000 लोगों के शहर में स्थित है।

Latest news
Related news